logo
क्या SMS Bombing से हाईजैक हो सकता है आपका फोन? जानिए क्यों आ रहे हैं आपको OTP वाले इतने मैसेज
 
phone

SMS Bombing नया वर्ड नहीं है. इसका यूज काफी सालों से किया जा रहा है. इसे आमतौर पर प्रैंक करने के लिए यूज किया जाता है. जैसा की नाम से ही साफ है SMS Bombing से आपको सैकड़ों OTP वाले SMS लगातार आने लगते हैं. ये SMS Flipkart, Apollo, Snapdeal, Zomato, Zepto और Licious जैसी वेबसाइट्स से होते हैं. 

कई केस में देखा गया है कि ओटीपी मैसेज के अलावा ओटीपी कॉल्स भी यूजर्स के मोबाइल नंबर पर आने लगते हैं. ऐसे में एक नॉर्मल या डिवाइस भी कुछ समय के लिए हैंग हो जाता है. इतने सारे ओटीपी वाले मैसेज को देखकर कई यूजर्स को लगता है उनका डिवाइस हैक तो नहीं हो गया है. 

SMS Bombing के लिए कोई भी चार्ज भी नहीं किया जाता है. यानी पूरी तरह से फ्री है. कई वेबसाइट्स और ऐप्स SMS Bombing सर्विस देते हैं. इसके लिए आपको केवल फ्रेंड का मोबाइल नंबर और SMS के नंबर्स सेलेक्ट करने होते हैं. 

इसके बाद टारगेट नंबर पर एक के बाद एक OTP वाले SMS आने लगते हैं. इसके लिए ये वेबसाइट्स या ऐप्स इन कंपनियां के API प्वॉइंट में मौजूद खामी का फायदा उठाते हैं और यूजर्स को लगातार ओटीपी वाले मैसेज भेजकर उन पर SMS Bombing अटैक किया जाता है. 

हालांकि, एक साथ इतने मैसेज मिलने से टारगेटेड यूजर घबरा भी जाते हैं और परेशान भी हो जाते हैं. इस तरह का प्रैंक बिना टारगेट यूजर की जानकारी के करना हरासमेंट का एक तरीका है. इसके साथ परेशानी वाली बात ये है कि इसे मॉनिटर नहीं किया जा सकता है. 

कई वेबसाइट्स जो SMS Bombing फीचर देती हैं वो इससे अपने नंबर को प्रोटेक्ट करने की भी सुविधा देती हैं. आप वेबसाइट की प्रोटेक्शन लिस्ट में जाकर अपना नंबर रजिस्टर कर सकते हैं. इससे उस वेबसाइट से आपके नंबर पर SMS Bombing नहीं की जा सकती है. यूजर्स इसके लिए एंटी-SMS Bombers का भी इस्तेमाल कर सकते हैं.