logo
Vastu Tips: नया मकान बनवा रहे हैं तो ऐसे लगवाएं दरवाजे, निगेटिव एनर्जी से मिलेगा छुटकारा
 
rashi

Vastu Tips: नया मकान बनवा रहे हैं तो ऐसे लगवाएं दरवाजे, निगेटिव एनर्जी से मिलेगा छुटकारा

Doors Installed Like This: नया मकान या फ्लैट बनवाने का प्लान कर रहे हैं तो दरवाजों पर खास ध्यान देना होगा! हमेशा दो पल्लों का दरवाजा सबसे अच्छा माना जाता है, लेकिन नए चलन में सिंगल डोर बन रहे  हैं!

Vastu Tips for Doors: पहले दो पल्ले के ही दरवाजे होते थे, जो एक के ऊपर एक चढ़ जाते थे, जिससे मजबूती भी रहती थी और नकारात्मक ऊर्जा का प्रवेश नहीं होने पाता था! ध्यान रखें पहले नीचे की तरफ चौखट होती थी लेकिन अब वह भी खत्म हो गई है और सीधे डोर लगने लगे हैं! नीचे की चौखट मेन सरफेस से ऊपर होती है जो नकारात्मक एनर्जी और ऊपरी प्रेत बाधाओं को रोकती है! मुख्य दरवाजे की सीध में सारे दरवाजे नहीं होने चाहिए, यानी सबसे पीछे की ओर यदि कोई खड़ा है तो उसे मुख्य द्वार नहीं दिखना चाहिए!

घर के बीच का दरवाजा रखें बंद

कहने का मतलब है कि घर के अंदर जो भी पॉजिटिव एनर्जी है, वह ड्रेनेज नहीं होनी चाहिए, बल्कि घर में रुकनी चाहिए! एक सीध में दरवाजे होने से इसकी आशंका बनी रहती है! उत्तर दिशा फेसिंग वाला घर है तो नॉर्थ से ऊर्जा आती तो है, इन दरवाजों के कारण निकल भी जाती है! ऐसे में बीच का कोई डोर बंद रखना चाहिए!

दरवाजों में हो कुंडी

दरवाजों में बीच की कुंडी भी होनी चाहिए भले ही ऊपर नीचे हों! यदि कोई दरवाजा साउथ-वेस्ट यानी दक्षिण पश्चिम में है और वहां से धूप रोशनी हवा आदि आती है तो भी उसे बंद ही रखें क्योंकि वहां से आने वाली हवा रोग लेकर लाती है! ऐसे मकान के मालिक यदि वह सबसे बुजुर्ग भी हैं तो उन्हें कमर के नीचे के हिस्से में दिक्कत रहेगी, पैरों और जोड़ों में दर्द बना रहता है!

दरवाजों पर वंदनवार

मकान में यदि हवा पानी का कोई और विकल्प नहीं है तो उसे बहुत जरूरी होने पर कुछ देर के लिए ही खोलें अन्यथा बंद ही रखें, उसमें डोर क्लोजर लगा लें ताकि वह हमेशा बंद ही रहे! मुख्य द्वार पर आम के पत्तों का वंदनवार लगाएं और उसे हर हफ्ते बदलें! यदि ऐसा करना संभव नहीं है तो कोई खूबसूरत आर्टिफिशियल वंदनवार लगाएं और एक बात का ध्यान रखें कि दरवाजे का रंग गहरा हो!


ओम या स्वास्तिक का चिह्न

यदि मुख्य दरवाजा लोहे का है और हवा के लिए बीच में गैप है जिससे काफी हवा आती है तो फाइबर शीट लगा लें ताकि बाहर की हवा को रोका जा सके! शास्त्र कहते हैं दरवाजा बंद होने के बाद अंदर का कुछ दिखना नहीं चाहिए! कुछ लोग दरवाजे के ऊपर देवताओं की फोटो लगा देते हैं! देवता कोई चौकीदार नहीं हैं जो उनकी फोटो लगा दी है! वहां पर ओम या स्वास्तिक के रूप में कोई शुभ चिह्न लगा लें! मेन डोर के अंदर की तरफ मछली का चिह्न लगा लें, ताकि निकलते समय मछली के दर्शन हों!