Mausam Ki Jankari: पहाड़ों पर बर्फबारी, दिल्ली-यूपी समेत उत्तर भारत में बढ़ी ठंड; मौसम अपडेट पढ़ें

Mausam Ki Jankari पहाड़ों पर हो रही बर्फबारी का असर मैदानी इलाकों में देखने को मिल रहा है। दिल्ली-यूपी समेत उत्तर भारत में पारा लुढ़क रहा है। पहाड़ी राज्यों में आज भी बर्फबारी का अनुमान जताया गया है।

नई दिल्ली, ऑनलाइन डेस्क। देश के कई राज्यों में गिरते तापमान ने अपना असर दिखाना शुरू कर दिया है। पहाड़ों पर हो रही लगातार बर्फबारी से उत्तर भारत में मौसम में बदलाव देखने को मिल रहा है। दिल्ली और उसके आसपास के इलाकों में भी पारा लुढ़कता जा रहा है। मौसम विभाग ने कुछ राज्यों में शीतलहर चलने का अलर्ट जारी किया है। आपको बताते हैं कि देश के अलग-अलग राज्यों में मौसम का क्या हाल है।

दिल्ली में साफ रहेगा मौसम

मौसम विभाग ने दिल्ली में मौसम साफ रहने का अनुमान जताया है। सुबह और शाम के समय ठंड और बढ़ सकती है। हालांकि, प्रदेश में कोहरे के आसार नहीं हैं।

UP में कुछ जगहों पर कोहरा

पहाड़ों पर हो रही बर्फबारी का असर यूपी के कुछ हिस्सों में भी देखने को मिल रहा है। सुबह और शाम के समय ठंड बढ़ने लगी है। पश्चिमी यूपी में कोहरे का भी असर देखा जा रहा है। हालांकि, दोपहर में खिली धूप निकल रही है। वहीं, प्रयागराज में इस हफ्ते सुबह और शाम को कोहरा हो सकता है।

Bihar पछुआ पवन की मजबूत स्थिति

बिहार में सुबह और रात के दौरान ठंड लग रही है। तो वहीं, दोपहर में गर्मी का अहसास हो रहा है। बदलते मौसम के कारण लोग बीमार भी हो रहे हैं। उधर, राज्य में पछुआ हवा की मजबूत स्थिति बनी हुई है। इसके चलते मौसम अगले पांच दिनों तक शुष्क बना रहेगा। आने वाले दिनों में तापमान दो से तीन डिग्री गिर सकता है।

हिमाचल प्रदेश में शीत लहर का असर

पहाड़ी राज्य हिमाचल प्रदेश में शीत लहर का असर देखने को मिल रहा है। मौसम विभाग ने ऊंचे इलाकों में आज हिमपात का अनुमान जताया है। ज्यादातर हिस्सों में बादल छाए रहेंगे। राजधानी शिमला में न्यूनतम तापमान 7.8 डिग्री दर्ज किया गया है, जबकि ऊना, मंडी और सोलन में तापमान पांच डिग्री तक पहुंच रहा है।

jagran

Uttarakhand: तापमान में उतार-चढ़ाव

सक्रिय पश्चिमी विक्षोभ और बंगाल की खाड़ी के ऊपर बन रहे कम दबाव के क्षेत्र के कारण उत्तराखंड के तापमान में उतार-चढ़ाव देखने को मिल रहा है। उधर, न्यूनतम तापमान में गिरावट दर्ज की जा रही है। अगले दो-तीन दिन तक मौसम ऐसे ही बना रह सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *