logo
एक साल में चार नौकरी, फिर शादी के 30वें दिन ही BPSC क्लियर कर गई बहू
 
bahu

एक साल में चार नौकरी, फिर शादी के 30वें दिन ही BPSC क्लियर कर गई बहू


शादी के 30वें दिन ही बीपीएससी की परीक्षा पास करने वाली वैशाली की रूचिला रानीशादी के 30वें दिन ही बीपीएससी की परीक्षा पास करने वाली वैशाली की रूचिला रानी


वैशाली! सपने तो सभी देखते हैं लेकिन कम ही लोग होते हैं जो अपने सपने का साकार करते है! बिहार के हाजीपुर की रुचिला रानी उन्हीं लोगो में से एक है, जिसने ना सिर्फ अफसर बनने का सपना देखा बल्कि आज उस सपने को साकार भी कर दिया है! एक साल में चार सरकारी नौकरी की परीक्षा पास करने वाली रुचिला ने शादी का एक महीना पूरा होते ही बीपीएससी पास कर जिले का नाम रौशन कर दिया है, जिसके बाद लोग कहने लगे हैं कि अफसर बिटिया चली ससुराल!

ग्रामीण परिवेश और मध्यम वर्गीय परिवार से आने वाली रुचिला ने अपनी मेहनत और कठिन परिश्रम से ना सिर्फ एक साल में चार सरकारी नौकरी हासिल की बल्कि शादी के तीसवें दिन ही बीपीएससी की परीक्षा पास कर अधिकारी बन गई हैं, जिसके बाद उसके मायके से लेकर ससुराल तक जश्न का माहौल है! मायके में घरवलों के साथ-साथ गांव के लोग भी अपनी इलाके की बेटी की इस सफलता पर उत्साहित हैं तो पति को भी अपनी नई नवेली दुल्हन पर गर्व हो रहा है!


बीपीएससी की परीक्षा में 215वां रैंक पाने वाली रुचिला ने घर पर ही रहकर सेल्फ स्टडी से यह मुकाम हासिल की है! इसके पीछे उसके माता पिता का बहुत बड़ा योगदान है! पेशे से सरकारी शिक्षक उसके पिता ने पाई-पाई जोड़कर अपनी बेटी को पढ़ाया और समाज की परवाह किये बगैर अपनी बेटी को इतना काबिल बनाया कि आज बेटी के मायके से लेकर ससुराल तक उत्साह है! रूचिला की मां ने अपनी बेटी को उन लोगो की नजरों से छिपाकर रखा जो लोग बेटियों को घर मे बिठाने पर ताना मारने का काम करते हैं, मां ने तो आज तक अपने पैरों में पायल तक नहीं पहना क्योंकि पायल की आवाज बेटी की पढ़ाई में खलल डाल सकता था लेकिन आज बेटी की सफलता की गूंज पूरे जिले में सुनाई दे रही है!


बीपीएससी क्लियर कर प्रोबेशनरी ऑफिसर बनने से पहले रूचिला ने मद्य निषेध विभाग, बिहार पुलिस के दारोगा, रेलवे के अलावा फरवरी महीने में हुए बिहार शिक्षक के नियोजन में भी अपनी जगह बनाई थी लेकिन अंतत: सिविल सर्विस में जाने के जज्बे ने उसे बीपीएससी की परीक्षा भी पास करवा दी!