नीता अंबानी ने ड्रीम प्रोजेक्ट NMACC को लेकर शेयर किया अपना विजन, भारतीय कलाकारों को मिलेगा मंच

नीता अंबानी ने अपने नए ड्रीम प्रोजेक्ट नीता मुकेश अंबानी सांस्कृतिक केन्द्र (NMACC) को लेकर अपना विजन देश के लोगों के साथ शेयर किया। उन्होंने कहा कि यह भारत का आधुनिकतम, प्रतिष्ठित तथा विश्व स्तरीय सांस्कृतिक केन्द्र होगा, जहां कलाकारों के साथ-साथ विजिटर्स के लिए भी कला के नए आयामों को देखने और परखने का अवसर मिलेगा। इसके जरिए भारत और दुनिया भर की कलाओं को एक मंच पर लाया जा सकेगा।

नीता मुकेश अंबानी सांस्कृतिक केंद्र (NMACC) मुंबई के बांद्रा-कुर्ला कॉम्प्लेक्स (BKC) में Jio वर्ल्ड सेंटर के भीतर स्थित है और भारत की सर्वश्रेष्ठ कला और संस्कृति को दुनिया के सामने प्रदर्शित करने और दुनिया को भारत लाने के लिए सबसे अधिक मांग वाला स्थान बनेगा। नीता अंबानी ने इसे कलाकारों और आगंतुकों के साथ-साथ सपने देखने वालों और रचनाकारों के लिए वास्तव में समावेशी केंद्र कहा, जिसका उद्देश्य कला को विश्व स्तरीय बुनियादी ढांचे के साथ सभी के लिए सुलभ बनाना है।

NMACC को ‘भारतीय कलाओं को संरक्षित और बढ़ावा देने की हमारी प्रतिबद्धता’ कहते हुए रिलायंस फाउंडेशन की फाउंडर चेयरपर्सन नीता अंबानी ने कहा, “मुझे आशा है कि हमारे प्रयास भारत और दुनिया भर से लोगों को एक साथ लाने के लिए प्रयास करेगी और प्रतिभाओं को आगे बढ़ाएगी।”

उल्लेखनीय है कि NMACC स्थानीय कला, कलाकारों, कलाकारों और रचनाकारों के लिए भारत में एक अंतरराष्ट्रीय मंच बनाने के लिए नीता अंबानी का ड्रीम प्रोजेक्ट है, जिसे अमरीका और यूरोप की तर्ज पर ही तैयार किया जा रहा है। इस प्रोजेक्ट का अक्टूबर 2022 में उद्घाटन करते हुए ईशा अंबानी ने इसे संस्कृति के प्रति अपनी मां का सम्मान बताया।

चार मंजिला NMACC में 16000 वर्ग फुट का उद्देश्य-निर्मित प्रदर्शनी स्थान और तीन थिएटर होंगे। इनमें से सबसे बड़ा, 2,000 सीटों वाला ग्रैंड थियेटर, जिसमें 8,400 स्वारोवस्की क्रिस्टल के साथ एक असाधारण और अद्वितीय कमल-थीम वाला झूमर शामिल होगा। यहां एग्जीबिशन के लिए अलग-अलग वेन्यू बनाएं जा रहे हैं जिनमें द ग्रैंड थियेटर, द स्टूडियो थिएटर और द क्यूब शामिल हैं। इन्हें अत्याधुनिक तकनीक के साथ निर्मित किया गया है और यहां पर कला कार्यक्रमों की स्पेशल स्क्रीनिंग से लेकर अंतर्राष्ट्रीय मंचन तक किया जा सकेगा। प्रोजेक्ट में भारतीय और अंतरराष्ट्रीय कलाकारों के कार्य को दर्शाने के लिए एक चार मंजिला आर्ट हाउस भी बनाया जा रहा है। NMACC का अनावरण 31 मार्च 2023 को एक भव्य लॉन्चिंग प्रोग्राम में किया जाएगा। इसका प्रोग्राम शेड्यूल इस प्रकार रहेगा।

31 मार्च 2023 (शुक्रवार)

Civilization to Nation: The Journey of Our Nation: 2,000 सीटर ग्रैंड थियेटर में, देश के टॉप आर्टिस्ट और भारतीय नाटककार और निर्देशक फिरोज अब्बास खान शास्त्रीय नाट्य शास्त्र के सिद्धांतों के माध्यम से भारतीय संस्कृति को एक कथा के रूप में प्रस्तुत करेंगे। यहां पर 300 कलाकारों और 75-पीस लाइव ऑर्केस्ट्रा के साथ एक शानदार प्रस्तुति दी जाएगी जिसका उद्देश्य देश की असाधारण प्रतिभाओं को अंतरराष्ट्रीय मंच प्रदान करना है।

1 अप्रैल 2023 (शनिवार)

India in Fashion: फैशन पर भारतीय संस्कृति और कला का प्रभाव: इसमें प्रतिष्ठित लेखक और कॉस्ट्यूम एक्सपर्ट हामिश बाउल्स द्वारा क्यूरेट किए गए प्रोग्राम को दिखाया जाएगा। इस एग्जीबिशन में भारत की वैदिक परंपराओं का आधुनिक भारतीय कला पर पड़ने वाले प्रभाव को दर्शाया जाएगा। इसके साथ ही रिज़ोली द्वारा पब्लिश की गई एक कॉफी टेबल बुक को भी लॉन्च किया जाएगा। इस बुक में पहली बार भारत के व्यापक इतिहास और दुनिया भर के फैशन पर पड़ने वाले इसके प्रभाव को बताया गया है।

2 अप्रैल 2023 (रविवार)

Sangam Confluence: भारत के प्रमुख सांस्कृतिक आर्टिस्ट रंजीत होसकोटे और अमेरिकन क्यूरेटर तथा म्यूज़ियम ऑफ़ कंटेम्पररी आर्ट (MOCA), लॉस एंजिल्स के पूर्व निदेशक जेफरी डिच की गैलरी को दर्शाया गया है। इसके लिए यहां पर पूरे 16,000 स्क्वायर फुट स्पेस में एग्जीबिशन रखी गई है। इस एग्जीबिशन में देश के उभरते हुए कलाकारों के काम को दर्शाया जाएगा।

इस अवसर पर ईशा अंबानी ने भी नीता अंबानी तथा उनके ड्रीम प्रोजेक्ट को लेकर अपने विचार रखें। उन्होंने कहा,

“नमस्ते

ये मेरे लिए बहुत ख़ुशी का दिन है। जब मैं अपनी मां के साथ आपसे बात कर रही हूं। हमने उन्हें को अनेक रूपों में देखा है। एक बिजनेस वूमैन, स्पोर्ट्स को बढ़ावा देने वाली एक लीडर, रिलायंस फाउंडेशन की चेयरपर्सन और बच्चों के लिए समर्पित एक टीचर। लेकिन, इन सबसे पहले, वह एक भरतनाट्यम डांसर हैं। उन्होंने पिछले 50 सालों में हर रोज़ एक साधना की तरह नृत्य की कला को आत्मसात किया है। नीता मुकेश अंबानी कल्चरल सेंटर (NMACC) उनके इसी समर्पण का प्रतिफल है।”

ईशा अंबानी के इस संबोधन पर नीता अंबानी ने भाव-विभोर होते हुए कहा,

“धन्यवाद ईशा,

कला मेरे लिए एक साधना है, तपस्या है। मैं आज आपके सामने भारत की एक क्लासिकल डांसर के रूप में आई हूं। जब मैं 6 वर्ष की थी तभी भरतनाट्यम सीखने का फैसला किया था। मेरे इस निर्णय ने मुझे आत्मविश्वास दिया, मुझे शक्ति दी। आज मैं जो कुछ भी हूं, इसमें इसका बहुत बड़ा योगदान है। प्राचीन काल से हमारे ऋषि मुनियों ने कला को ध्यान और साधना का ही एक रूप बताया है। भारत में शुरु से ही मूर्तिकला, नृत्य, संगीत, नाटक, चित्रकारी आदि की एक परम्परा रही है। मेरा सपना है कि भारतीय कला की यह धरोहर दुनिया के सामने आए। नीता मुकेश अंबानी कल्चरल सेंटर (NMACC) मेरे बचपन के इसी सपने को पूरा करेगा। यहां आकर कलाकार अपना कल्पना की उड़ान भर पाएंगे। भारत और दुनिया के कलाकारों का NMACC में तहेदिल से स्वागत है।

धन्यवाद।”

The post नीता अंबानी ने ड्रीम प्रोजेक्ट NMACC को लेकर शेयर किया अपना विजन, भारतीय कलाकारों को मिलेगा मंच appeared first on News24 Hindi.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *