Butter: कहीं बटर की जगह स्लो पॉइजन तो घर नहीं ला रहे आप? इस आसान तरीके से करें मक्खन की जांच

How To Check Butter Quality: भारतीय खाने में मक्खन बहुत ही अहम होता है, गर्मागर्म परांठे पर पिघलता हुआ मक्खन देखते ही सभी के चेहरों पर मुस्कान सी आ जाती है। मक्खन एक ऐसी चीज है, जिसे आप ब्रेड से लेकर नान तक हर जगह इस्तेमाल कर सकते हैं। अब जैसा की हम सभी जानते हैं, मक्खन एक डेयरी प्रोडक्ट है। इसलिए इसकी क्वालिटी पर अक्सर सवाल उठते रहते हैं। बात करें हेल्थ एक्सपर्ट्स और विशेषज्ञों की तो उनके मुताबिक मक्खन का जरूरत से ज्यादा सेवन सेहत के लिए हानिकारक हो सकता है। आजकल के बिजी लाइफस्टाइल में लोग खाने-पीने को लेकर ज्यादा सोच विचार नहीं करते हैं। उन्हें जो भी चीज पसंद आती है, वह बिना उस प्रोडक्ट की क्वालिटी चेक करे उसका सेवन कर लेते हैं।

आपके पसंदीदा मक्खन को बनाया जा रहा जहरीला

ऐसा ही कुछ हम सभी के फेवरेट मक्खन का हाल है, दरअसल बाजारों में मिलावटी और नकली प्रोडक्ट बिकने लगे हैं। आपको ये जानकार हैरानी होगी कि बाजार में मक्‍खन के नाम पर मार्जरीन धड़ल्‍ले से बिक रहा हैं। मार्जरीन (Margarine) मक्‍खन की ही तरह दिखने वाला एक डेयरी प्रोडक्ट है, जो पशुओं के दूध से बनाने की जगह जटिल प्रक्रियाओं (Complex Process) के माध्‍यम से बनाया जाता है। विशेषज्ञों की मानें तो मार्जरीन सेहत के ल‍िए बहुत हानिकारक साबित होता है। इसका सेवन करने से इंसान को कैंसर-डायब‍िटीज जैसी खतरनाक बीमारियां घेर सकती हैं। यहां सबसे चिंताजनक बात ये है कि मार्जरीन बनाने में पाम ऑयल का इस्तेमाल किया जाता है। ये ऑयल दुनिया के सबसे हानिकारक ऑयल में से एक होता है।

पाम ऑयल और मार्जरीन सेहत के लिए हानिकारक

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक ऐसा कहा जाता है कि पाम ऑयल का सेवन करने से इंसान हार्ट अटैक का शिकार हो जाता है। देशभर में लगातार बढ़ रहे हार्ट अटैक के मामलों में ये भी एक बहुत बड़ा कारण बना हुआ है। वहीं जनता को बेवकूफ बनाकर अपने हित साधने के लिए मार्जरीन को जीरो कैलेस्ट्रोल का खिताब भी दिया गया है। बाजार में बिकने वाला कौन सा मक्खन असली है और कौन सा नकली ये पता लगाने के लिए भारतीय खाद्य सुरक्षा और मानक प्राधिकरण (FSSAI) समय-समय पर खाद्य पदार्थों की क्वालिटी को लेकर अहम जानकारियां शेयर करते रहते हैं।

कैसे करें असली और नकली मक्खन की पहचान

मक्खन की क्वालिटी जांचने के लिए दो कटोरियों में पानी भरें। दोनों में आधा चम्मच मक्खन डालें। इसके बाद आयोडीन की दो से तीन बूंदें कटोरे में डालें। ऐसा करने से असली मक्खन का रंग नहीं बदलेगा, लेकिन मार्जरीन के पानी का रंग नीला हो जाएगा। आइये जानते हैं कि मार्जरीन के सेवन से शरीर को कौन सी बीमारियां घेर लेती हैं:-

– कोलेस्ट्रॉल लेवल का बढ़ना।

– दिल की समस्‍याएं बढ़ जाती हैं।

– डायबिटीज का खतरा बढ़ जाता है।

– आंतों में जम जाती है चर्बी।

– अल्जाइमर होने का खतरा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *