मेरी कहानी: मैं एक मुस्लिम लड़का हूं, मुझे हिंदू लड़की से प्यार हो गया, लेकिन परिवार के डर से वह शादी नहीं करना चाहती

सवाल: मैं 27 साल का एक अविवाहित लड़का हूं। मैं एक मुस्लिम परिवार से आता हूं। कुछ दिनों पहले ही मैंने पश्चिम बंगाल पुलिस में कॉन्स्टेबल की परीक्षा पास करके जॉइनिंग की है। मेरी निजी जिंदगी में कोई समस्या नहीं है। लेकिन परेशानी यह है कि मुझे एक लड़की से प्यार हो गया, जोकि हिंदू है। वह देखने में बहुत ज्यादा खूबसूरत है। वह अभी केवल 22 साल की है। वह बिहार पुलिस में जॉब करती है। हम दोनों एक-दूसरे को बहुत चाहते हैं।

हम दोनों शादी भी करना चाहते हैं, लेकिन समस्या यह है कि अलग-अलग धर्म की वजह से हमारा एक हो पाना मुश्किल है। ऐसा नहीं है कि मैंने उस लड़की से इस बारे में बात नहीं की, लेकिन उसका कहना है कि हमारे परिवार वाले कभी इस रिश्ते के लिए सहमत नहीं होंगे। मुझे समझ नहीं आ रहा कि मैं क्या करूं? इस बात को सोच-सोचकर मैं इतना ज्यादा परेशान हूं कि मैं अपने काम पर भी ध्यान नहीं दे पा रहा। (सभी तस्वीरें सांकेतिक हैं, हम यूजर्स द्वारा शेयर की गई स्टोरी में उनकी पहचान गुप्त रखते हैं)

एक्सपर्ट का जवाब

प्रिडिक्शन फॉर सक्सेस के संस्थापक और रिलेशनशिप कोच विशाल भारद्वाज कहते हैं कि यह देखकर बहुत दुख होता है कि अंतर धर्म विवाह को आज भी घृणा की दृष्टि से देखा जाता है। खासकर, हिंदू और मुस्लिम जोड़े के लिए एक साथ रहना बहुत ज्यादा मुश्किल है।

हालांकि, बॉलीवुड में ऐसा नहीं है, लेकिन आम जन-जीवन में इसकी कल्पना करना भी गुनाह है। ऐसे में मैं यही कहूंगा कि अगर आप शादी करने का फैसला करते हैं, तो आपको हर तरह की आलोचना और नफरत का सामना करने के लिए भी तैयार रहना होगा।

एक-दूसरे पर विश्वास करके आगे बढ़ें

जैसा कि आपने बताया कि आप दोनों ही सरकारी नौकरी में हैं। ऐसे में मैं कहूंगा कि यही आपके रिश्ते की सबसे अच्छी बात है। ऐसा इसलिए क्योंकि इस तरह के रिश्तों की घृणा से ऊपर आने का सबसे आसान तरीका अत्यधिक सफल और स्वतंत्र होना है। एक बार जब आप अपने पेशेवर जीवन में एक महान मुकाम हासिल कर लेते हैं, तो कई लोगों के लिए आपके फैसले पर सवाल उठाना या आपके प्रति घृणा रखना बहुत कम हो जाता है।

लेकिन इस दौरान एक बात का ध्यान रखें कि आपको अपने रिश्ते को शादी तक पहुंचाने के लिए बहुत संघर्ष करना पड़ेगा। ऐसे में एक-दूसरे पर विश्वास करके आगे बढ़ना बहुत ज्यादा जरूरी है।

प्रेमिका की भी मदद लें

आपकी पूरी बात को सुनने के बाद मैं आपको उन लोगों की लिस्ट बनाने की सलाह दूंगा, जो इस मामले में आपकी मदद कर सकते हैं। जो इस बात को समझते हैं कि प्यार करना कोई गुनाह नहीं है। अपने इस फैसले में ऐसे लोगों को शामिल करें, जो न केवल आपके निर्णय को समझेंगे बल्कि आपका समर्थन भी करेंगे।

आप चाहें तो इस मामले में अपने साथी के परिवारवालों को भी शामिल कर सकते हैं। आप अपनी प्रेमिका की मदद लें। ऐसा इसलिए क्योंकि अगर आप दोनों मिलकर एक-दूसरे की मदद करेंगे, तो बहुत जल्द एक सटीक निर्णय पर पहुंच पाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *