Tilting Trains: देश को जल्द मिलेगी झुकी हुई ट्रेनें, घुमावदार रास्ते पर मोटरबाइक की तरह मुड़ने में होगी सक्षम

2025-26 तक देश को पहली टिल्टिंग ट्रेनें मिल जाएंगी। इस तरह की तकनीक का इस्तेमाल कर 100 वंदे भारत ट्रेनें बनाई जा रही हैं। ये सभी ट्रेनें घुमावदार सड़कों पर मोटरसाइकिलों की तरह तेजी से मुड़ सकेंगी। एक वरिष्ठ अधिकारी ने शुक्रवार को कहा। उन्होंने कहा कि 2025 तक 400 वंदे भारत ट्रेनें बनाई जाएंगी, जिनमें से 100 इस तकनीक का इस्तेमाल करेंगी।

100 वंदे भारत ट्रेनों में लगाई जाएगी तकनीक

अधिकारी ने कहा, ‘हम जल्द ही भारत में टिल्टिंग ट्रेनें चलाएंगे।’ इसके लिए हम एक टेक्नोलॉजी पार्टनर के साथ पार्टनरशिप करेंगे। अगले दो से तीन वर्षों के दौरान, हमारे पास इस तकनीक का उपयोग करने वाली 100 वंदे भारत ट्रेनें होंगी। इस तरह की तकनीक वाली ट्रेनें कैसे काम करती हैं, इस बारे में बताते हुए उन्होंने कहा कि ऐसी ट्रेन घुमावदार रास्ते पर मुड़ते हुए तेज गति से चलेगी। ट्रेन के मोड़ पर मुड़ने पर यात्रियों को सहारा देना होता है, लेकिन इस तकनीक के इस्तेमाल से यात्रियों को पहले से ज्यादा सहूलियत होगी।

ऐसी ट्रेनें 11 देशों में चल रही हैं

यह ध्यान दिया जाना चाहिए कि टिल्टिंग ट्रेनों में एक तंत्र है जो नियमित ब्रॉड गेज पटरियों पर उच्च गति को सक्षम बनाता है। इस तकनीक से ट्रेनें पटरियों पर किसी मोड़ या मोड़ पर एक साथ अपना तालमेल बिठाकर झुक जाती हैं। ऐसी ट्रेनें वर्तमान में इटली, पुर्तगाल, स्लोवेनिया, फिनलैंड, रूस, चेक गणराज्य, ब्रिटेन, स्विट्जरलैंड, चीन, जर्मनी और रोमानिया सहित लगभग 11 देशों में संचालित होती हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *