7th pay commission Employees salary hike: कर्मचारियों-पेंशनरों को मिले तीन बड़े तोहफे! सेलेरी में आया तकड़ा उछाल, सुनके खबर झूम उठेंगे

Central Employee salary Hike 2022 :  2022 की तरह, 2023 केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनरों के लिए उपहारों से भरा हो सकता है। नए साल में कर्मचारियों को एक बार फिर 4 फीसदी महंगाई भत्ता बढ़ोतरी, 3.68 फीसदी फिटमेंट फैक्टर और पुरानी पेंशन स्कीम बहाल करने जैसे 3 बड़े तोहफे मिल सकते हैं. इससे वेतन में बंपर उछाल देखने को मिलेगा। हालांकि, सरकार की ओर से अभी तक इस बारे में कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है और न ही कोई बयान सामने आया है।

सितंबर एआईसीपीआई इंडेक्स द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक, 2023 में महंगाई भत्ते में 3 से 4 फीसदी की और बढ़ोतरी के संकेत हैं। संभावना है कि जनवरी में डीए 38 प्रतिशत से बढ़कर 42 प्रतिशत हो सकता है, जबकि पेंशनरों के लिए मुद्रास्फीति राहत भी बढ़कर 42 प्रतिशत हो जाएगी। इससे 50 लाख कर्मचारियों और 65 लाख पेंशनभोगियों को फायदा होगा। मौजूदा समय में केंद्रीय कर्मचारियों का महंगाई भत्ता 38 फीसदी है। 42% पर, न्यूनतम मूल वेतन कुल 720 रुपये प्रति माह और अधिकतम वेतन 2,276 रुपये प्रति माह बढ़ने की संभावना है। वृद्धि से 18,000 वेतन पाने वाले कर्मचारियों का वेतन बढ़कर लगभग 8,600 और 56,000 से 27,00 हो जाएगा

फिटमेंट फैक्टर बढ़ा सकते हैं
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक नए साल में फिटमेंट फैक्टर को 3 फीसदी से बढ़ाकर 3.68 फीसदी किया जा सकता है. वर्तमान में 7वें वेतन आयोग के तहत कर्मचारियों का फिटमेंट फैक्टर 2.57 गुना है और मूल वेतन है फिटमेंट फैक्टर को बढ़ाकर 3.68 फीसदी किया जा सकता है, जिसके बाद न्यूनतम मूल वेतन 26,000 रुपये होगा। तीन गुना वृद्धि पर सहमति बनी तो न्यूनतम वेतन 21 हजार रुपये होगा.संभावना है कि केंद्रीय कर्मचारियों की मांग पर केंद्र सरकार 1 फरवरी को पेश होने वाले बजट के बाद फैसला लेगी.

सैलरी कितनी बढ़ेगी
केंद्रीय कर्मचारियों का न्यूनतम वेतन तय करने के लिए फिटमेंट फैक्टर एक प्रमुख मानदंड है। यह कारक केंद्रीय कर्मचारियों के वेतन में ढाई गुना से अधिक की वृद्धि के लिए जिम्मेदार है।
7वें वेतन आयोग में पे मैट्रिक्स फिटमेंट फैक्टर पर आधारित है, इसलिए कर्मचारियों को मिलने वाली सैलरी में फिटमेंट फैक्टर की अहम भूमिका मानी जाती है।
उदाहरण के लिए, यदि किसी केंद्रीय कर्मचारी का मूल वेतन 18,000 रुपये है, तो भत्ते को छोड़कर उसका वेतन 18,000 रुपये X 2.57= 46,260.3.68 रुपये का लाभ होगा, वेतन 95,680 रुपये (26000 X 3.68 = 95,680) i 49,420 लाभ होगा 3 गुना फिटमेंट फैक्टर होने पर सैलरी 21000 X 3 = 63,000 रुपए होगी।

पुरानी पेंशन पर भी फैसला हो सकता है

केंद्रीय कर्मचारियों को भी नए साल में महंगाई भत्ता और फिटमेंट फैक्टर के साथ पुरानी पेंशन योजना का लाभ दिया जा सकता है।छत्तीसगढ़, झारखंड, पंजाब और राजस्थान में 2023 में पुरानी पेंशन योजना का पालन किए जाने की संभावना है। केंद्र सरकार ने पिछले महीनों में कानून मंत्रालय की राय मांगी थी। अगर सब कुछ ठीक रहा तो मोदी सरकार 7वें वेतन आयोग के तहत 2024 से पहले पुरानी पेंशन योजना को फिर से लागू कर सकती है. हालांकि, अभी तक कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *