मराठवाड़ा में 34 फीसदी रबी सीजन की हुई बुवाई,किसानों को रबी सीजन में है काफी उम्मीदें

महाराष्ट्र में खरीफ सीजन भारी बारिश और फिर बेमौसम बारिश के कारण किसानों को परेशानी उठानी पड़ी थी. वहीं अब मराठवाड़ा में किसान एक बार फिर कमर कस कर रबी के काम में लग गए हैं. कृषि विभाग ने बताया है कि मराठवाड़ा में अब तक 34 फीसदी रबी की बुआई हो चुकी है. औरंगाबाद संयुक्त कृषि निदेशक के अधिकार क्षेत्र में 7 लाख 41 हजार 180.28 हेक्टेयर है, जिसमें से अब तक 2 लाख 30 हजार 284 हेक्टेयर में बुआई हो चुकी है. वहीं विदर्भ के कुछ जिलों में अभी भी बुवाई मव देरी देखी जा रही है. वहीं महाराष्ट्र के उत्तर पश्चिमी हिस्से में स्थितनंदुरबार जिले में अभी तक रबी की सिर्फ 15 प्रतिशत ही बुआई ही हो पाई है. और जिले में अब तक नौ हजार हेक्टेयर रकबे में रबी की बुआई हो चुकी है.

किस जिले में कितनी कितनी हुई है बुवाई

औरंगाबाद, जालना और बीड जिले कृषि संयुक्त निदेशक, औरंगाबाद के कार्यालय के अधिकार क्षेत्र में शामिल है.
औरंगाबाद जिले का सामान्य बुवाई क्षेत्र एक लाख 90 हजार 935 हेक्टेयर है, जिसमें से 20 हजार 496 हेक्टेयर में रबी की बुवाई की जा चुकी है. जालना जिले का सामान्य बुवाई क्षेत्र 2 लाख 17 हजार 892 हेक्टेयर है, जिसमें से 63 हजार 177 हेक्टेयर में रबी की बुवाई की गई है. वहीं बीड जिले में एक लाख 46 हजार 611 हेक्टेयर में रबी की बुआई की जा चुकी है, जो सामान्य बोये गये क्षेत्रफल की तुलना में 44.11 प्रतिशत है. और औरंगाबाद संभाग में रबी का सामान्य रकबा 3 लाख दो हजार 138 हेक्टेयर है, जिसमें से 1 लाख 25 हजार 338 हेक्टेयर में बुआई हो चुकी है.

किन फसलों की कितनी हुई है बुवाई

औरंगाबाद संभाग में रबी ज्वार का कुल क्षेत्रफल 3 लाख 71 हजार 857 हेक्टेयर है. और अभी तक 86 हजार 861 हेक्टेयर में ज्वार की बुआई की जा चुकी है. साथ ही 18 हजार 471 हेक्टेयर में गेहूं और 3 लाख 63 हजार 948 हेक्टेयर में चना बोया जा चुका है.

किसानों को रबी से काफी उम्मीदें

इस साल के शुरुआत में ही भारी बारिश और वहीं वापसी की बारिश ने खरीफ फसलों को भी काफी हद तक नुकसान पहुंचाया है. इसलिए यह तस्वीर है कि किसानों के हाथ में खरीफ से कुछ नहीं आया है. खरीफ में किसानों अपनी लागत तक नहीं निकाल पाए है. कहीं-कहीं तो खेतों में तैयार फसल तक पानी में बह गई थी. इस बीच अब रबी की बुआई शुरू हो गई है और किसान इससे अच्छी उम्मीद कर रहे है. लिहाजा कई क्षेत्रों में बुआई शुरू हो गई है. किसानों का कहना है खरीप ने हुए फसलों के नुकसान की भरपाई रबी सीजन में हो पायेगी.

एग्रीकल्चर न्यूज,सरकारी कृषि योजनाएं,क्रॉप स्पेशल,एग्री पॉलिसी,खेती-किसानी की सक्सेस स्टोरीकी ताजा खबरें पढ़ें औरTV9 Hindi Agricultureपेज को फॉलो करें.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *